NASA की तस्वीर में मंगल की सतह पर एलियन दिखने का दावा

परग्रहियों यानी एलियंस को ढूंढने वालीं वेसबाइट्स पर इन दिनों मंगल ग्रह की सतह की ऐसी तस्वीर छाई हुई है, जिसमें चट्टानों के बीच एक आकृति दिख रही है। लोगों का कहना है कि तस्वीर में दिख रही यह आकृति केकड़े का फॉसिल हो सकता है। कुछ का तो यहां तक कहना है कि यह ‘फेसहगर’ है। 1979 में आई अमेरिकन साइंस-फिक्शन मूवी ‘एलियन’ में इसी तरह का एक परग्रही जीव चेहरे पर चिपककर जान ले लेता था।

मूवी में ऐसा था फेसहगर (http://i.imgur.com/4ZfjQmf.jpg)

लोग मांग कर रहे हैं कि मार्स क्यूरिऑसिटी रोवर द्वारा खींची गई इस तस्वीर की नासा को जांच करनी चाहिए। मगर जानकारों का कहना है कि यह चट्टान का ही एक टुकड़ा है, जो केकड़े की तरह दिख रहा है। उनका कहना है कि यह न तो ‘फेसहगर’ एलियन है और न ही केकड़े का फॉसिल।

जब से इंसान ने मंगल ग्रह की तस्वीरें लेना शुरू किया, तब से लेकर आज तक वहां पर जिंदगी के सबूत ढूंढे जा रहे हैं। पिछले 40 सालों में बहुत से लोग तरह-तरह के दावे कर चुके हैं। कभी मंगल की तरह पर चेहरे जैसी आकृति ढूंढने का दावा किया गया, कभी स्पेसक्राफ्ट तो कभी पिरामिड। मगर बाद में ऐसा कोई भी दावा सही साबित नहीं हो पाया।

सबसे पहले ‘वाइकिंग-1’ द्वारा मंगल की सतह पर ली गई चेहरे की आकृति वाली तस्वीर सामने आई थी। बाद में भले ही यह चट्टानों और छाया का खेल साबित हुआ, मगर इसके बाद बहुत से लोगों ने मंगल पर कुछ ढूंढ निकालने को अपनी हॉबी बना लिया।

इस तस्वीर की वजह से एक मनोवैज्ञानिक घटनाक्रम पैरइडोलिया (pareidolia) के बारे में जागरूकता फैली थी। इसके तहत हमारा दिमाग कुछ ऐसी चीज़ें देखने लगता है, जो वास्तविकता में होती ही नहीं। दरअसल वह रैंडम चीज़ों को उन चीज़ों से जोड़कर देखने लगता है, जो उसने पहले देखी होती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इसी वजह इस तस्वीर में भी लोगों को चट्टान के टुकड़े में केकड़े या ‘फेसहगर’ की आकृति दिख रही है।

Comments

comments