ओ३म् या ॐ की शक्ति: पवित्र शब्द सुनकर चुप हो जाते हैं रोते हुए बच्चे

ओ३म् या ॐ, जिसे या ओंकार भी कहते हैं बहुत ही महत्वपूर्ण ध्वनि है। जिसे सभी मंत्रों की आत्मा कहा जाता है। मान्यता है कि ब्रह्मांड की उत्पत्ति इसी से हुई है। अब यह भी कहा जाने लगा है कि सायंस में जिसे बिग बैंग कहा जाता है, उस दौरान दरअसल ओम् की ही ध्वनि पैदा हुई थी। ये सब अलग बाते हैं। हिंदू धर्म में इस शब्द को ब्रह्मांड का सार माना जाता है। इसकी महिला 16 श्लोकों में वर्णित की गई है। गुरु नानक जी का शब्द ‘एक ओंकार सतनाम’ बहुत प्रचलित है जिसका अर्थ है- एक ओंकार ही सत्य नाम है। कहते हैं कि बाकी नामों और ध्वनियों आदि को तो हमने बनाया है मगर ओंकार ही है जो स्वयंभू है और इसी से सभी शब्द बने हैं। कहा जाता है कि हर ध्वनि में ओउ्म शब्द होता है। यह तो रही धार्मिक महत्व की बात। अब बात करते हैं कि इस शब्द या इस महामंत्र की शक्ति कितनी है। धर्मग्रंथों में तो योग, साधना आदि में इसके महत्व पर बहुत कुछ लिखा गया है। मगर साधारण से इस्तेमाल में भी यह कितना प्रभावी हो सकता है, इसका पता एक वीडियो में चलता है। इंटरनेट पर एक वीडियो डाला गया है। जिसमें एक अंग्रेज बता रहा है कि उसने अपनी नन्ही सी बेटी को रोते हुए से चुप करने के लिए नया तरीका खोजा है। इसमें दिखता है कि जैसे ही बच्ची रोने लगती है, उसका पिता गहरा सांस भरता है और लंबी सी ध्वनि निकालता है। इस ध्वनि को सुनते ही बच्ची शांत हो जाती है और आराम से सो जाती है।

 

हमने गौर करने पर पाया कि यह ध्वनि कोई और ध्वनि नहीं, बल्कि ओ३म् या ॐ की है। यकीन न हो तो नीचे वीडियो देखें और खुद सुनें:

 

ओ३म् या ॐ सुनते ही चुप हो जाते हैं रोते हुए बच्चे

ओ३म् या ॐ सुनते ही चुप हो जाते हैं रोते हुए बच्चे। यकीन न हो तो वीडियो देखें:

Posted by Baba Bola on Sunday, 30 April 2017

आप भी नन्हे बच्चों पर यह तरीका आजमाएं और कॉमेंट करके जरूर बताएं कि इसने काम किया या नहीं।

Comments

comments